Sponsor

recent posts

कैल्शियम की कमी होना और कैल्शियम की कमी से बचने के बेह्तरीन उपाई

कैल्शियम की कमी से होने वाले लक्षण 
कैल्शियम की कमी होना और कैल्शियम की कमी से बचने के बेह्तरीन उपाई
Credit Photo

दोस्तों कैल्शियम एक महत्वपूर्ण खनिज यानी मिनरल है जो हड्डी की रख रखाव में मुख्य मदद करता है शरीर न 99% से भी ज्यादा कैल्शियम दांतों और हड्डियों में ही होता है इसके आलावा शरीर का बाकी बचा हुआ 1% कैल्शियम अन्य महत्वपूर्ण कार्यो में सहायता करता है जैसे मासपेशियों का रख-रखाव करना ह्रदय को मजबूत रखना कैल्शियम हाई ब्लड प्रेसर को कण्ट्रोल करता है इसके साथ-साथ ये शरीर की कोशिकाओं में भी बहुत ही इम्पोर्टेंट रोल प्ले करता है। 

कैल्शियम की कमी होने से क्या होता है 

  • एक रिसर्च में यह बात सामने आई है की कैल्शियम की कमी होने से शरीर में कैंसर का खतरा बढ़ जाता है इसका कारण यह है की यदि कोशिकाएं सही प्रकार से विकशित नहीं हो पाती है उन कोशिकाओं पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है जिस से वह अनियंत्रित होकर गलत ढंग से विभाजित होना शुरू हो जाती है इस तरह शरीर में कैंसर का खतरा बन जाता है। 
  • कैल्शियम की कमी से ब्लड प्रेसर पर बरभाव पड़ता है और दोस्तों ब्लड प्रेसर पर प्रभाव पड़ना मतलब ह्रदय रोगों को जनम देना है जब नियमित रूप से ब्लड की नियमित मात्रा ह्रदय तक नहीं पहुंच पाती है तो ऐसे में हार्ट अटैक या हार्ट स्टॉक होने का खतरा बाढ़ जाता है। 
  • कैल्शियम की कमी होने से हमारे शरीर की कई महत्वपूर्ण हड्डियां समय से पहले या बाद में टूट जाती है और कई बार हलकी सी चोट लगने पर भी इसमें फ्रेक्चर हो जाता है हड्डियों के टूटने के कारण पेसेंट को ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी भी हो सकती है। 
  • यदि पेसेंट के शरीर में कैल्शियम की कमी हद से ज्यादा हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उनकी रोग प्रतिरोधक समता यानी इम्युनिटी वीक हो जाती है जिस से शरीर में कई तरह की अन्य बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। 
  • नसों में ब्लड का परवाह सामान्य से बहुत ज्यादा तेज हो जाता है ऐसे में दिमाग की नसों के फटने का डर हो सकता है इसलिए हाई ब्लड प्रेसर एक खतरनाक बिमारी खा जाता है। 

कैल्शियम की कमी होने के कारण 

  • यदि आप अपने दैनिक आहार में कैल्शियम युक्त चीजों का सेवन बिलकुल भी नहीं करते अत्यधिक खाने में फॉस्फोरस या मैग्नीशियम का सेवन करते है तो इस से आपको कैल्शियम की कमी हो जाती है। 
  • अगर आप हर दिन पर्याप्त मात्रा में सूर्य की रौशनी या धुप नहीं लेते तो इस से आपकी बॉडी में कैल्शियम का स्तर कम होने लगता है। 
  • दॉतों यदि आप अपनी डेली रूटीन में अधिक मात्रा में चाय या कॉफी का सेवन करते है तो इस से भी कैल्शियम की कमी हो सकती है। 
  • यदि आप अपनी दिनचर्या में सक्कर युक्त पदार्थों का ज्यादा मात्रा में सेवन करते है तो यह शरीर में कैल्शियम की कमी के साथ-साथ आपकी हड्डियों को भी कमजोर करता है। 
  • शरीर में पाचन क्रिया कमजोर होने से हम जो भी भोजन करते है इस से कैल्शियम का सही तरीके से अवशोषण नहीं हो पाता या फिर बहुत कम हो पाता है इस से हमारी पाचन क्रिया को अधिक मेहनत की आवश्यकता पड़ती है। 

कैल्शियम की कमी के लक्षण 

  • दोस्तों कैल्शियम की कमी से हमारी हड्डीओं में दर्द होता है यानी पूरे शरीर में हमें दर्द सा महसूस होता है काफी समय तक एक जगह बैठे रहने के बाद उठने पर जोड़ों में दर्द होना कैल्शियम की कमी को दर्शाता है। 
  • बहुत ज्यादा थकान सुस्ती आलास आना कैल्शियम की कमी के लक्षण है शरीर में एनर्जी न होना पूरी तरह काम में फोकस न कर पाना ये सब दर्शाता है की आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई है। 
  • कैल्शियम की कमी से आपके नाख़ून इसने नाजुक और कमजोर हो जाते है की वह खुद टूटने लगते है। 
  • यदि आपकी त्वचा रूखी और लाल हो रही हो और उसमे खुजली हो रही हो तो आप समझ जाए की आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो रही है। 
  • दोस्तों जब कैल्शियम की कमी होती है तो दांतों की समस्या सुरु हो सकती है जैसे की दांत कमजोर होना मंसूड़ो की समस्या दांतों में सड़न आदि। 
  • दिल को सही तरीके से काम करने के लिए कैल्शियम की जरूरत होती है यदि आपको कैल्शियम की कमी हो तो आपकी दिल धड़कन अचानक से बढ़ने लगती है जिस से की आपको बेचैनी सी महसूस होने लगेगी। 
  • दोस्तों एक और मुख्य कारण है कैल्शियम की कमी का बालो झड़ना यदि आपके बाल लगातार झड़ते हो या फिर बहुत रूखे हो गए हो तो यह दर्शाता है की आपको कैल्शियम की कमी हो गई है। 

कैल्शियम की कमी के उपाय 

  • दोस्तों रोजाना अदरक वाले पानी का सेवन करे इसके लिए आप एक बर्तन में डेढ़ कप पानी ले उसमे आप एक इंच अदरक का टुकड़ा कद्दू कस करके दाल दे अब आप पानी को अछि तरह से उबाल ले जब पानी एक कप जितना हो जाए उसे छान कर चाय की तरह सिप-सिप पिए यह कैल्शियम की कमी को दूर करने में बहुत ही मदद करता है। 
  • रोजाना 2 चम्मच तिल का सेवन करे यदि आप इसे डाइरेक्ट नहीं खा सकते तो तिल की चिक्की या लड्डू भी आप खा सकते है। 
  • हफ्ते में कम से कम 2 से 3 बार रागी से बानी इटली डोसा या दलीय खाए इस से पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलेगा।  
  • अगर आप डेली सुबह को रात भर भीगी हुई 4 से 5 बादाम छीलकर खाते है उसके बाद आप एक ग्लास दूध पी ले तो इस से आपको भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है क्योंकि दूध और बादाम दोनों ही कैल्शियम का एक अच्छा स्त्रोत है। 
  • दोस्तों एक बर्तन में दो ग्लास पानी ले फिर उसमे एक चम्मच जीरा डाले फिर उस पानी को इतना उबले की पानी लगभग एक ग्लास हो जाए अब आप पानी को छान कर सिप-सिप पिए ये आपके लिए बहुत ही लाभदायक होगा। 
  • आप विटामिन D युक्त पदार्थो का सेवन जैसे दूध, मखन, पनीर, टोफू, मछली, अण्डे अदि और अनाज जैसे गेहूं, बाजरा, मुंग, राजमा, सोयाबीन जैसे मोटे अनाज के सेवन करने से कैल्शियम की कमी से छुटकारा पाया जा सकता है। 
  • हरी सब्जियों का नियमित रूप से सेवन करे जैसे पालक, मेथी, फूल गोभी, शलगम, गाजर, टमाटर, ककड़ी आदि। 
  • नियमित रूप से फलो का भी जरूर सेवन करे यदि आप पपीता, संतरा, लीची, अनानास, कीवी जैसे फलो को रेगुलर कहते है तो इस से भी आपको भरपूर मात्रा में कैल्शियम मिलता है। 
  • दोस्तों यदि आप डेली सुबह को 8 से 10 के बीच में 15 मिनट के लिए सूरज की रौशनी लेते है तो इस से आपके शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होगी।  

अस्वीकरण: हम केवल शिक्षा के उद्देश्य से अपने दर्शकों को बीमारी, उपचार और दवाओं के बारे में सामान्य जानकारी प्रदान करने का एक साधन हैं। प्रदान की गई जानकारी का उपयोग आपके चिकित्सक के मार्गदर्शन के बिना किसी भी बीमारी या चिकित्सा स्थिति के निदान और/या उपचार के लिए नहीं किया जाना चाहिए। कोई भी उपचार या दवा शुरू करने से पहले हमेशा डॉक्टर से सलाह लें।


कोई टिप्पणी नहीं:

top navigation

Blogger द्वारा संचालित.