Sponsor

recent posts

Khajoor khane ke anokhe fayde hindi me

खजूर खाने के अनोखे फायदे  
Khajoor khane ke anokhe fayde hindi me

दोस्तों खजूर जिसे डेट्स के नाम से भी जाना जाता है। यह एक मीठा फल है। जो ड्राई फ्रूट के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। और यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसका रोजाना सेवन करने से हमें अनगिनत फायदे होते है। लेकिन बहुत लोग यह नहीं जानते की खजूर कब कैसे और कितनी मात्रा में खाना चाहिए। जिस वजह से वे इसका पूरी तरह से लाभ नहीं उठा पाते है। और कई बार फायदे की जगह नुक्सान हो जाता है। दोस्तों खजूर में ऐसा क्या है जो इसे वंडर फ्रूट की श्रेणी में लाता है। असल में खजूर पोषक तत्वों का भंडार है। यह एक ऐसा पोस्टिक फल है जिसमे 100 ग्राम खजूर में 21.32 ग्राम पानी, 66.47 ग्राम शुगर, 1.8 ग्राम प्रोटीन, 74.97 ग्राम कार्बोहइड्रेट, 6.7 ग्राम फाइबर, 74.97 ग्राम कोलेस्ट्रॉल, 0.15 ग्राम फेट और 277 किलो कैलोरी एनर्जी होती है। इसके खजूर में आयरन, मिनरल्स, कैल्शियम, एमिनो एसिड, फॉस्फोरस और विटामिन्स भरपूर मात्रा में पाया जाता है। और दोस्तों खजूर 3 प्रकार के पाए जाते है। सूखे, बिलकुल गीले और सेमि ड्राइड फोम में आते है। 

खजूर खाने का सही समय 

दोस्तों वैसे तो आप खजूर का सेवन किसी भी समय कर सकते है। पर आप खजूर का सेवन सुबह के समय खाली पेट करते है तो इस से आपको इंस्टेंट एनर्जी मिलेगी। और यह आपके शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इस के आलावा अगर आप वर्कआउट करते हो तो आप वर्कआउट के एक घंटे पहले खजूर का सेवन करे इस से आपके वर्कआउट तेज करने में मदद मिलती है। इसके साथ-साथ कुछ लोगो को खाना खाने के बाद मीठा खाने की आदत होती है। तब आप अनहेल्दी खाने के बजाय नैचुरली मीठा खजूर खाए जो की बिलकुल हेअल्थी होता है। और आप शाम को अनहेल्थी स्नेक्स की बजाय खजूर का सेवन करे जिस से आपकी भूक भी कम हो जाएगी। और यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। इसके साथ-साथ आप खजूर का सेवन रात के समय में भी कर सकते है। इसके लिए आप खजूर खा कर ऊपर से गरम दूध पी ले तो यह आपके लिए बहुत ही हेल्दी होगा। 

खजूर खाने का सही तरीका 

दोस्तों खजूर की तासीर गरम होती है। तो अगर आप इसका सेवन गर्मी के मौसम में करते है। तो खजूर को रात भर पानी में भिगो कर रखे। और फिर सुबह इसका खली पेट सेवन करे। इस से इसकी गरम तासीर ख़तम हो जाती है। और साथ ही साथ पौस्टिकता भी बानी रहती है। पर अगर सर्दी का मौसम है तो आप इसे डाइरेक्ट खा सकते है। या फिर आप चाहे तो इसे दूध में अच्छी तरह उबाल कर भी इसका सेवन कर सकते है। दोस्तों वैसे तो खजूर खाना सभी को पसंद होता है। पर अगर आप चाहे तो दूध में 3 से 4 खजूर और 3 से 4 बादाम डाल कर इसका शेक बनाकर भी पी सकते है। इस से आपके शरीर में इंस्टेंट एनर्जी मिलेगी खजूर खाने का एक और अच्छा तरीका है। इसे आप सलाद में डाल कर भी खा सकते है। इसके लिए खजूर के छोटे-छोटे टुकड़े कर दे और इसे सलाद के ऊपर डाल कर खाए। यह आपके लिए बहुत ही हेल्दी होगा। इसके आलावा जिन लोगों को कमर दर्द की शिकायत हो वो दे खजूर को पानी में अच्छी तरह उबालें फिर उसमे 2 से 3 ग्राम मेथी दाना का चूर्ण मिलाएं और इसका नियमित रूप से सेवन करने से आपको जल्द ही कमर दर्द की शिकायत से छुटकारा मिलेगा। 

रोजाना कितने खजूर खाने चाहिए 

दोस्तों वैसे तो आप दिन भर में कम से कम दो खजूर और ज्यादा से ज्यादा 5 से 7 खजूर का सेवन कर सकते है। दोस्तों असल में खजूर खाने की सही क्वांटिटी इस पर भी डिपेंड करती है। की आपके शरीर की तासीर गरम है या ठंडी अगर आप फिजिकल एक्टिविटी या जिम करते है। तो आप एक दिन में 5 से 6 खजूर खा सकते है। इसके अलावा अगर आप वजन बढ़ाना चाहते है। तो 5 से 7 खजूर को आधा लीटर दूध में अच्छी तरह से उबालें और फिर खजूर को दूध से निकाल कर अलग से खाए फिर इसके ऊपर दूध पी ले तो इस से आपको बहुत जल्द रिजल्ट मिलेगा। अगर आप खजूर को अपनी डेली डाइट में सुरु करने जा रहे है। तो दो खजूर से सुरुवात कर सकते है। 

खजूर खाने के अनोखे फायदे 

  • दोस्तों खजूर में विटामिन C की मात्रा अच्छी होती है। और विटामिन C त्वचा को सेहतमंद रखने में बहुत ही फायदेमंद होता है। यह यह हमारी स्किन को टाइट कर झुर्रियां हटाने में मदद करता है। और त्वचा को चमकदार बनता है।  
  • खजूर में पर्याप्त मात्रा में ग्लूकोस, फ्रक्टोज़ और सुक्रोज पाया जाता है। इसका सेवन करने से हमारे शरीर में तुरंत एनर्जी आजाती है। 
  • कम सोडियम और ढेर सारे मिनरल्स होने की वजह से खजूर हमारी हड्डियों को मजबूत रखने में बेहद मदद गार होता है। 
  • खजूर में सेलेनियम, पोटेशियम, मेगनीज और कॉपर भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसका रेगुलर सेवन करने से हमारी हड्डियां मजबूत बनी रहती है। 
  • खजूर हमारे शरीर की पाचन शक्ति बढ़ाने में मदद करता है। क्योंकि खजूर में पर्याप्त मात्रा में फाइबर्स पाए जाते है जो पेट की पाचन क्रिया को ठीक रखने में बहुत ही मदद गार होता है। 
  • दोस्तों जिन लोगों को कब्ज की समस्या हो तो उन्हें खजूर रात भर पानी में भिगो कर सुबह खाली पेट इसका सेवन करना चाहिए। यह इसका एक अच्छा इलाज है। 
  • अगर आपके शरीर में आयरन की कमी हो तो आपको खजूर का जरूर सेवन करना चाहिए क्योंकि खजूर में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। और अगर आपको एनीमिया यानी खून की कमी हो तो रोजाना खजूर को दूध में उबाल कर इसका सेवन करना चाहिए यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। 
  • अगर आप बहुत ही दुबले पतले हो और अगर आपको अपना वजन बढ़ाना हो तो आपको दिन भर में 5 से 6 खजूर दूध के साथ जरूर लेना चाहिए। दोस्तों खजूर में नेचुरल शुगर विटामिन और कई प्रोटीन होते है। जो वजन बढ़ाने का काम करते है। इसलिए इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करे। 
  • दोस्तों मीठे फलों में विटामिन B आसानी से मिल जाता है। खजूर में विटामिन B होता है जो की हमारे नर्वस सिस्टम को स्वस्थ बनाए रखता है। और अगर आप बहुत जल्दी पेनिक हो जाते है। आपको जल्दी ही घबराहट सी होने लगती है। यानी आपका नर्वस सिस्टम कमजोर हो तो आपको नियमित रूप से खजूर का सेवन करना चाहिए। 
  • खजूर में पोटेशियम होता है। जो हमारे दिमाग को एक्टिव बनाए रखता है। खजूर में भरपूर मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है। जो ब्लड वेसल्स को हेल्दी बनाए रखता है। जिस से ब्लड प्रेसर कण्ट्रोल में रहता है। इसके आलावा इसमें पर्याप्त मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट्स पाया जाता है। जो ह्रदय सम्बन्धित बिमारियों से छुटकारा दिलाता है दोस्तों नियमित रूप से खजूर का सेवन करने से हार्ट अटक का खतरा भी काफी हद तक कम हो जाता है। 
  • दोस्तों खजूर में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है। जो माँ और बच्चे दोनों के लिए बहुत ही जरूरी होते है। इसलिए प्रेग्नेंट वीमेन को इसे नियमित रूप से खाना चाहिए। क्योंकि प्रेग्नेंसी में महिला को एनर्जी की जरुरत आम दिनों के अपेक्सा ज्यादा होती है। इसे खाने से उन्हें इंस्टेंट एनर्जी मिलती है। पर एक बात का ध्यान रहे प्रेग्नेंसी में इसे ज्यादा मात्रा में न खाए नहीं तो नुक्सान भी हो सकता है। 

अस्वीकरण: हम केवल शिक्षा के उद्देश्य से अपने दर्शकों को बीमारी, उपचार और दवाओं के बारे में सामान्य जानकारी प्रदान करने का एक साधन हैं। प्रदान की गई जानकारी का उपयोग आपके चिकित्सक के मार्गदर्शन के बिना किसी भी बीमारी या चिकित्सा स्थिति के निदान और/या उपचार के लिए नहीं किया जाना चाहिए। कोई भी उपचार या दवा शुरू करने से पहले हमेशा डॉक्टर से सलाह लें।


  

कोई टिप्पणी नहीं:

top navigation

Blogger द्वारा संचालित.